डीविलियर्स ने की छक्कों की बारिश, हारकर IPL से बाहर हुई राजस्थान, कोहली हुए फ्लॉप, रहाणे ने खेली ताबड़तोड़…

0
437

आईपीएल-8 में एलिमिनेटर मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर ने राजस्थान रॉयल्स को 71 रनों से हरा दिया था. 181 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी राजस्थान की टीम शुरुआत से ही दबाव में आ गई और एक के बाद एक विकेट गिरते चले गए. 17 ओवरों में 103 के स्कोर पर टीम ने 9 विकेट गवां दिए और 19वें ओर में टीम आल आउट हो गई.

राजस्थान की शुरुआत अच्छी नहीं रही. सलामी बल्लेबाज शेन वाटसन सिर्फ 10 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद आए सैमसन और स्मिथ भी कुछ खास नहीं कर सके. 13वें ओवर की पहली गेंद पर नायर भी 12 के निजी स्कोर पर आउट हो गए. उन्होंने कुल 13 गेंदों का सामना किया.

14वें ओवर की आखिरी गेंद पर रहाणे ने छक्का जड़ने की कोशिश की लेकिन विकेट गवां बैठे. रहाणे 39 गेंदों का सामना किया और 4 चौकों की मदद से कुल 42 रन बनाए. रहाणे के बाद टीम का कोई भी खिलाड़ी टिक नहीं सका और राजस्थान ने मैच अपने हाथ से गवां दिया.

इसके पहले रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 20 ओवरों में चार विकेट खोकर कुल 180 रन बनाए. शुरुआत में लड़खड़ाई टीम धीरे-धीरे मजबूती की ओर बढ़ी. डीविलियर्स और मंदीप के शानदार अर्धशतक से टीम बड़ा स्कोर खड़ा करने में कामयाब रही. ओपनिंग करने उतरे क्रिस गेल ने अपने पुराने अंदाज में तूफानी बैटिंग की, हालांकि वह ज्यादा देर नहीं टिक सके और छठे ओवर की आखिरी गेंद पर 27 रन के निजी स्कोर पर बोल्ड हो गए.

गेल ने कुल 26 गेंदें खेलीं जिनमें चार चौके और एक छक्का भी जड़ा. राजस्थान को पहली सफलता कुलकर्णी ने दिलाई. इसके बाद कप्तान कोहली भी ज्यादा देर नहीं टिके और 12 रन के निजी स्कोर पर अपना विकेट गवां बैठे. तीसरे नंबर पर बैटिंग करने आए विस्फोटक बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने एक बार फिर RCB की नैया पार लगाई और चौके-छक्कों की बारिश कर डाली.

डिविलियर्स ने कोहली की तुलना फेडरर से की, स्मिथ को नडाल जैसा बताया; कहा-  सचिन से ज्यादा बेहतर हैं विराट | AB de Villiers on Virat Kohli Steve Smith  Roger Federer Rafaelडीविलियर्स ने 38 गेंदों में शानदार 66 रन बनाए. 19वें ओवर की चौथी बॉल पर वह रन आउट हुए. इसके बाद आए डीकॉक भी ज्यादा देर नहीं टिके और आखिरी ओवर में 8 रन बनाकर चलते बने. मंदीप ने शानदार बैटिंग की और 33 गेंदों में 54 रन बनाकर नाबाद लौटे.

दोनों ही टीमों के लिए यह करो या मरो वाला मुकाबला है, क्योंकि इस मैच में हारने वाली टीम को वापसी का कोई मौका नहीं मिलेगा. हालांकि जीतने वाली टीम को फाइनल में इंट्री के लिए दूसरे क्वालिफायर मैच में भी जीतना जरूरी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here