सिराज से लेकर दीपक-पटेल तक, भारतीय गेंदबाजों ने जिम्बाब्वे को किया तहस-नहस, टूटा 30 साल का रिकॉर्ड

0
316

भारत (India) के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच में जिम्बाब्वे (Zimbabwe) की टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गयी. टीम का कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजी आक्रमण के सामने नहीं टिक सका. मुकाबले में पहले खेलते हुए जिम्बाब्वे की टीम 40.3 ओवर में महज 189 रन बनाकर आउट हो गई.

Imageभारत के लिए तेज गेंदबाजों ने बेहतरीन गेंदबाजी का प्रदर्शन किया. वहीँ स्पिनर अक्षर पटेल ने भी घातक गेंदबाजी की. टॉस जीतकर भारतीय टीम के कप्तान लोकेश राहुल ने फील्डिंग करने का निर्णय लिया. टीम इंडिया के आमंत्रण पर पहले बल्लेबाजी करने उतरी जिम्बाब्वे की टीम की शुरुआत खराब रही.

Imageजिम्बाब्वे के ओपनर इनोसेंट काया और मारुमानी क्रमशः 4 और 8 रन बनाकर आउट हो गये. इन फॉर्म बल्लेबाज सिकन्दर रजा 12 रन बनाकर आउट हो गए. 66 रनों पर 5 विकेट गंवाने के बाद मेजबान टीम मुश्किल में थी. अनुभवी चकाबवा ने 35 और एवांस ने 33 रन का योगदान दिया.

Imageजिम्बाब्वे की तरफ से एनगारवा ने भी 34 रनों की पारी खेली. 18 अगस्त को टीम इंडिया के कप्तान केएल राहुल ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी. राहुल ने मैच में दीपक चाहर से गेंदबाजी की शुरुआत कराई. तेज गेंदबाज चाहर ने चाहर ने 11वें ओवर तक ही जिम्बाब्वे के शीर्ष 3 विकेट हासिल कर लिए.

Imageदीपक चाहर और कृष्णा और सिराज ने मिलकर सात विकेट हासिल किये. भारत के लिए दीपक चाहर, प्रसिद्ध कृष्णा और अक्षर पटेल ने 3-3 विकेट जबकि एक विकेट सिराज हासिल किया. पहले स्पेल के बाद उनका बॉलिंग एनालिसिस 7-0-27-3 रहा.

Imageदीपक चाहर ने जिम्बाब्वे के विरुद्ध उसी की सरजमी पर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी करने के मामले में श्रीनाथ (3/35, वर्ष 1992) कप पीछे छोड़ा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here