वो नायाब भारतीय क्रिकेटर जिसका करियर शराब की वजह से तबाह हुआ, 17 की उम्र में किया था डेब्यू

0
419

मनिंदर सिंह ने 17 साल की उम्र में पाकिस्तान के खिलाफ अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी. 1982-83 में जब यह बाएं हाथ का स्पिन गेंदबाज भारतीय क्रिकेट में आया तो इनकी तुलना महान स्पिनर बिशन सिंह बेदी के साथ होने लगी. करियर की शुरुआत में मनिंदर सिंह का प्रदर्शन भी उसी स्तर का रहा. क्रिकेट पंडितों का मानना था कि भारत को एक और बेहतरीन स्पिन गेंदबाज मिल चुका है. हालांकि, ऐसा हुआ नहीं. बाद में खराब प्रदर्शन के चलते मनिंदर को भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया. आज मनिंदर 57 साल के हो चुके हैं. ऐसे में हम उनके करियर के बारे में बता रहे हैं.बिशन सिंह बेदी का उत्तराधिकारी कहलाया, 11 साल में टेस्ट में 100 रन भी नहीं  बना सका, 27 की उम्र में खत्म हो गया करियर | TV9 Bharatvarsh

मनिंदर ने अपना आखिरी टेस्ट 27 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1993 में खेला था. यह मैच उन चुनिंदा टेस्ट में से एक था, जो टाई हुए. भारत को जीत के लिए सिर्फ एक रन की जरूरत थी, जब मनिंदर आउट हो गए और भारत यह मैच हार गया. मनिंदर ने अपने टेस्ट करियर में 88 विकेट झटके. वहीं, वनडे में उनके नाम 66 विकेट रहे.

विवादों से रहा नाता
भारतीय टीम से बाहर होने के बाद मनिंदर कई तरह के विवादों में रहे. उन्हें शराब की लत लग गई और इस वजह से अक्सर उनका नाम विवादों में आता रहा. साल 2007 में दिल्ली पुलिस ने मनिंदर को कोकेन रखने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया था. उनके ऊपर 1.5 ग्राम कोकेन रखने का आरोप लगाया गया. हालांकि, 2012 में उन्हें इस आरोप से बरी कर दिया गया.

सुसाइड की खबर
2007 में ही ऐसी खबर आई थी कि मनिंदर सिंह ने आत्महत्या करने की कोशिश की है. उन्होंने अपनी कलाई काटी है और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हालांकि, बाद में मनिंदर ने साफ किया कि एक दुर्घटना में उनकी कलाई में चोट लगी थी और उन्होंने आत्महत्या की कोशिश कभी नहीं की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here